आभानेरी महोत्सव (Abhaneri Festival) : क्यों मनाया जाता है, क्या है इसका महत्व

चांद बावड़ी आभानेरी |आभानेरी महोत्सव (Abhaneri Festival) : क्यों मनाया जाता है, क्या है इसका महत्व

WhatsApp Group LinkWhatsApp Channel Join Now
Telegram GroupTelegram Group Join Now

आभानेरी महोत्सव (Abhaneri Festival) एक वार्षिक त्योहार के रूप में मनाया जाता है, यह फेस्टिवल हर वर्ष सितंबर अक्टूबर माह में दौसा जिले के आभानेरी गांव में मनाया जाता है। यह त्योहार राजस्थान पर्यटन विभाग द्वारा मनाया जाता है।

आभानेरी महोत्सव (Abhaneri Festival) : क्यों मनाया जाता है, क्या है

आभानेरी महोत्सव (Abhaneri Festival) को मनाने का मुख्य कारण : यहां कि कला एवं संस्कृति तथा प्राचीन इतिहास व धरोहर को प्राथमिकता देना है, इस उत्सव को मनाने कि समयावधि दो से चार दिन कि होती है। इस समयावधि के दौरान यहां रोजाना एक से बढ़कर एक रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाते हैं। ये कार्यक्रम यहां कि सभ्यता एवं संस्कृति से जुड़े हुए होते हैं, इसके साथ ही इन कार्यक्रमों में विविधता में भी एकता की भावना स्पष्टत: झलकती है।

इस उत्सव के दौरान निम्न कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाते हैं जैसे : सांस्कृतिक संध्या, ऊंट कि संवारी, मयुर नृत्य, चकरी नृत्य, घूमर, कालबेलिया नृत्य, भवई नृत्य, कच्ची घोड़ी, आदि। हर वर्ष लाखों पर्यटक यहां स्थित चांद बावड़ी का भृमण एवं हर्षत माता कि स्फटिक मूर्ति के दर्शन पाने के लिए देश विदेशों से यहां आते हैं और इसी के साथ वह इस उत्सव का आनंद भी लेते है।

यह भी पढे: Chittorgarh Darshan | चित्तौड़गढ़ में देखने लायक जगह

WhatsApp Group LinkWhatsApp Group Join Now
Telegram GroupTelegram Group Join Now
Scroll to Top